Hindi Shayari

प्यार के दो लफ्जो में बिकते आये हम

Pyar Ke Do Lafz Shayari

 

कभी संभले तो कभी बिखरते आये हम,
जिंदगी के हर मोड़ पर खुद में सिमटते आये हम,
यूँ तो जमाना कभी खरीद नहीं सकता हमें
मगर प्यार के दो लफ्जो में सदा बिकते आये हम।

 

यह भी देखे: तेरा सब से बात करना मुझे छोड़ कर

क्या यही मोहब्बत है शायरी

Kya Yhi Mohabbat Hai Shayari

 

कहते हैं लोग खुदा की इबादत है,
ये मेरी समझ में तो एक जहालत है,
चैन न आए दिल को, रात जाग के गुजरे
जरा बताओ दोस्तों क्या यही मोहब्बत है।

रिश्ते निभाना सीखो शायरी

Rishte Nibhana Seekho Shayari

 

कोई टूटे तो उसे सजाना सीखो,
कोई रूठे तो उसे मनाना सीखो,
रिश्ते तो मिलते हैं मुक़द्दर से
बस, उन्हें खूबसूरती से निभाना सीखो।

बोलना अब जुर्म जैसा है

Jurm Shayari Sms

 

दिलों की बंद खिड़की खोलना अब जुर्म जैसा है,
भरी महफिल में सच बोलना अब जुर्म जैसा है,
हर ज्यादती को सहन कर लो चुपचाप;
शहर में इस तरह से चीखना जुर्म जैसा है।