Hindi Shayari

मौसम की तरह लोग बदल जाते हैं शायरी

मिल भी जाते हैं तो कतरा के निकल जाते हैं,
हैं मौसम की तरह लोग… बदल जाते हैं,
हम अभी तक हैं गिरफ्तार-ए-मोहब्बत यारों,
ठोकरें खा के सुना था कि संभल जाते हैं।

 

गम-ए-तन्हाई शायरी

ना पूछो हालत मेरी रूसवाई के बाद,
मंजिल खो गयी है मेरी, जुदाई के बाद,
नजर को घेरती है हरपल घटा यादों की,
गुमनाम हो गया हूँ गम-ए-तन्हाई के बाद!!

 

Read More: Sad Love Broken heart Shayari For Gf Bf

 

प्यार में धोखा खा कर शायरी

लाखों टुकड़े होते है दिल के,
आँखों में आंसुओं की बरसात होती है,
कैसे समझाये प्यार में धोखा खा कर
क्या बीत ती है खुद पर और क्या हालत होती है।

 

हमे सुबह तो खुद को शाम बनाये बैठे है शायरी

दूरी हमसे वो कुछ यूँ बनाये बैठे है,
खुद को हमसे अनजान बनाये बैठे है,
मिलते नहीं आ कर हमारे सनम वो
जो हमे सुबह तो खुद को शाम बनाये बैठे है।

~ Lovejeet Singh