बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं शायरी

जो नजर से गुजर जाया करते हैं,
वो सितारे अक्सर टूट जाया करते हैं,
कुछ लोग दर्द को बयां नहीं होने देते
बस चुपचाप बिखर जाया करते हैं।