इश्क का मुझे क्या ख्वाब आ गया

Ishq Shayari On Isqh Ka Khwab Aa Gaya

 

इश्क का मुझे क्या ख्वाब आ गया,
समझ गया में मेरा भी वक्त ख़राब आ गया,
सनम आये या ना आये
मुझे तारे गिनने का तो हिसाब आ गया.

Related Post

इश्क मेरा कही तो काम आया... Latest Ishq Shayari On इश्क मेरा कही तो काम आया  झुका ली अपनी नजरे उन्होंनेजब महफिल में मेरा नाम आया ‪!!!!इश्क भले मेरा ना...
अकेलापन मुझे कितना चाहता है... Hindi Shayari On Akelapan In 2 Line  हर राह पर मेरा साथ निभाता है,यह अकेलापन मुझे कितना चाहता है. Read More : B...
ज़रा मुस्कुरा दो GirlFriend Ko Manane Ke Liye Shayari  हुई अगर खता तो चलो साज़ दो,तुम्हारे ऐसे रूठने की हमे वजह दो,चलो तुमे होठो पर नही लानी...

Author: admin

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *