Hindi Shayari

प्यार का इम्तेहान शायरी

Pyar Ka Imtihan Shayari

 

जाना कहा था और कहां आ गए,
दुनिया में बन कर मेहमान आ गए,
अभी तो प्यार की किताब खोली थी,
और न जाने कितने इम्तिहान आ गए।

यह भी देखे: बोलना अब जुर्म जैसा है शायरी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *