Hindi Shayari

क्या भीख मांगे अब जीवन की

Sad Dard Bhari Love Life Shayari

 

वह बेगानो में अपने,
हम अपनों में अनजान लगते हैं,

हमारे खून की कीमत नहीं,
उनके अश्कों के भी दाम लगते हैं,

क्या भीख मांगे
ऊपर वाले से अब जीवन की,

अब तो यह लम्हे,
चाँद दिनों के मेहमान लगते हैं।

 

वो ख़ुशी ख़ुशी रुलाने लगे

Sad Love Shayari Wo Khushi Khushi Rulane Lage

 

हम सिमट ने लगे वो हमे भुलाने लगे,
बेरुखी से हम मरने लगे तो वो और आजमाने लगे,
लगा था सीख जायेंगे हमारी मोहब्बत देख वफा करना
पर हम रोने लगे तो वो ख़ुशी ख़ुशी रुलाने लगे.