Hindi Shayari

तू चाहें न चाहें गिला नहीं इसका

Tu Chahe Ya Na Chahe Shayari

 

अपने दिल की जमाने को बता देते हैं,
हर एक राज से परदे को उठा देते हैं,
तू चाहें न चाहें गिला नहीं इसका
जिसे चाह लें हम उसपे जान लुटा देते हैं।

 

यह भी देखे: रंग में तेरे रंग जाने की चाहत शायरी

 

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *